गुप्तचर तन्त्र और पीपिंग टॉम

वह आम आदमी नहीं हैं l आजकल वह छुट्टी पर हैं l मुल्क भर के सारे गोपीचंद  गाजर कुतरते हुए उन्हें यहाँ - वहां तलाश रहे हैं l उनकी थाह पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है l हाथों में मैग्नीफाइंग ग्लास थामे राज्य गुप्तचर यह पता लगाने में लगे हैं कि वह पार्टी पराभव का इतिहास रचने के बाद अंतर्ध्यान होकर गए कहाँ हैं l वह इतिहास लेखन का काम अधूरा छोड़ गए हैं l उन्हें अभी उसके कुछ और अध्याय और अनुच्छेद लिखने हैं l उनकी पार्टी उन्हें बहुत ‘मिस’ कर रही है और मीडिया उनकी बाईट पाने के लिए  मिस कॉल पर मिस कॉल मार रही है l
वह ब्रह्मांड के किसी कोने में ठीक उसी तरह सुस्ता रहे हैं जैसे कभी सृजनहार अपना काम निबटाने के बाद चैन के कुछ पल बिताने  अवकाश पर गए थे l प्रभु की तरह उनकी लीला निराली है l वह हर जगह होते हैं लेकिन वह कहीं नहीं होते l वह कभी गुम नहीं होते इसलिए किसी को मिलते नहीं l वह कभी आँख से ओझल नहीं होते इसलिए दिखते नहीं l  वह सृजक हैं ,कर्ता नहीं l उनकी महिमा अपरम्पार है l  
जासूस उनको पूरी शिद्दत से दूंढ रहे हैं l वे उन्हें हर उस जगह तलाश चुके हैं ,जहाँ वे अकसर पाए जाते रहे हैं l वे उन्हें कैंडी क्रेश से लेकर पोगो तक और पॉपकॉर्न के खाली रैपर से लेकर आइसकैंडी स्टिक तक पर ढूंढ चुके हैं l  कुछ प्रोएक्टिव जासूस तो उन्हें उनके मनपसंद वीडियोगेम की सीडी और पेनड्राइव तक में खंगाल चुके हैं l उनके होने की भनक तो मिल  रही है लेकिन वह सशरीर नहीं मिल पा रहे l वह कर्तव्यनिष्ठ पार्टी कार्यकर्ताओं की स्मृति में मौजूद हैं l वह हींग की महक की तरह उसकी खाली डिब्बी में विद्यमान हैं l वह गायब भी हैं और हाज़िर भी ,वह  मंज़र भी हैं नाजिर भी l
उनकी अनुपस्थिति पार्टी को बड़ी खल रही है l वे इतनी  बेचैन है कि लगभग रोज ही किसी न किसी मुद्दे को लेकर मार्चपास्ट करती है l पार्टी हांफती हुई अपना खोया हुआ जनाधार नहीं ,अपने गुमशुदा नेता को तलाश रही है l वह वापस आयेंगे तो सब कुछ ठीक हो जायेगा l देशहित में पार्टी भले ही खो जाये लेकिन गुमशुदा जी का मिलना बड़ा जरूरी है l
जासूस लोग पूरी कोशिश के बाद भी उनका पता नहीं लगा पा रहे हैं l  इस टेंशन में वे इतनी गाजर कुतर चुके हैं कि आने वाले समय में सब्जी मंडी में उसकी किल्लत हो जाये तो ताज्जुब नहीं l एहतियाती तौर पर जनता से कह दिया गया है कि जब तक जासूस अपने काम पर लगे हैं वे राष्ट्रहित में गाजरों का सेवन स्थगित रखें l जासूसों से कह दिया गया है कि वे निश्चिंत हो कर उनकी तलाश की मुहिम  जारी रखें l
 और किसी को हो या न हो लेकिन इस मुल्क के गुप्तचर तंत्र ,पीपिंग टॉम (मीडिया ) और  स्वामीभक्तों को उनका अतापता जानने को लेकर बड़ी उत्सुकता  है l




इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जलीकट्टू और सिर पर उगे नुकीले सींग

भगत जी ,जगत जी और मस्तराम की पकौड़ी

शराफ़त नहीं है फिर भी....